माँ झण्डेवाली देवी ( दैनिक दर्शन )
कोविड तात्कालिक दर्शन समय सारिणी
केवल लाइव दर्शन (केवल कोविड काल हेतु)।
YouTube एवम FaceBook के माध्यम से समय 09:00 से 21:00
आरती समय केवल कोविड काल हेतु।
मंगला आरती 06:00 बजे | प्रातः श्रृंगार आरती 09:00 बजे
दोपहर भोग आरती 12:00 बजे | सायं श्रृंगार आरती 07:30 बजे
शयन आरती पट बंद होने का समय रात्रि 09:00
आने वाले उत्सव
हमारे द्वारा आयोजित और निर्धारित उत्सव

श्रावण(सावन) का महीना

श्रावण(सावन) माह हिंदू पंचांग के अनुसार चैत्र माह से प्रारंभ होने वाले वर्ष का पांचवा महीना होता है। इसे वर्षा ऋतु का महीना भी कहा जाता है। श्रावण(सावन) मास भगवान् शिव को विशेष प्रिय है। इस माह में प्रत्येक सोमवार के दिन भगवान श्री शिव की पूजा करने से श्रद्धालुओं को समस्त सुखों की प्राप्ति होती है और उसकी सभी इछाएं पूर्ण होती है।अधिक पढ़ें

तात्कालिक कार्यक्रमो की समय सारणी।

  • प्रातः काल श्रृंगार आरती 06:00 बजे
  • सायं काल श्रृंगार आरती 07:30 बजे
  • प्रातः 09:00 बजे से सायं 05:30 बजे तक विभिन्न कलाकारों द्वारा माँ का गुणगान
  • शयन आरती रात्रि 09:00 बजे
  • विशेष :-करोना काल की विकट परिस्थति को ध्यान में रखते हुए प्रशासन के दिशा निर्देशों के अनुसार श्रद्धालुओं के लिए दर्शन अगली सूचना तक बंद रहेंगे।
  • श्रद्धालुओं की आस्था को ध्यान में रखते हुए आरती एवं दर्शनों का सीधा प्रसारण मंदिर के YouTube एवम Facebook चैनल पर प्रसारित किया जाता है ।

नवंबर महीने के त्यौहार और व्रत

दिनांक / वार तिथि / नक्षत्र व्रत पर्व त्यौहार
05.01.2022,बुद्धवार तृतीया,घनिष्ठा पंचक प्रारम्भ
06.01.2022,वृहस्पतिवार चतुर्थी,शतभिषा गणेशचतुर्थी
09.01.2022,रविवार सप्तमी,रेवती पंचक समाप्त
10.01.2022,सोमवार अष्टमी,रेवती दुर्गाष्टमी जागरण
13.01.2022,वृहस्पतिवार एकादशी,कृतिका पुत्र एकादशी लोहड़ी
14.01.2022,शुक्रवार द्वादसी,रोहिणी मकर सक्रान्ति
15.01.2022,शनिवार त्रियोदशी,मृगशिरा प्रदोष व्रत
17.01.2022,सोमवार पूर्णिंमा,पुनर्वसु पौषीपूर्णिंमा सत्यनारायण
  • जय माता दी ।
    *विषेश सूचना* ========= कोविड नियमों के अनुसार *29 दिसंबर 2021 से दर्शन हेतु मंदिर* अगले आदेश तक बंद रहेगा। इस लिए 1 जनवरी 2022 की दर्शन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को रद्ध माना जाए।रती)।